Tuesday, 24 June 2014

वक़्त ने ज़िंदगी की बोली लगाई 
इंसान ने इंसान की होली जलाई  
चमत्कार हो नया कुछ ए खुदा 
तेरे आगे है मैंने झोली फैलाई  
--कमला सिंह 'ज़ीनत'

2 comments:

  1. मन को छूती अभिव्यक्ति
    बधाई ------

    ReplyDelete